homeopathic medicine for eczema

एक्जिमा Eczema

एक्जिमा (Eczema)

खुजली, जलन, दर्द के साथ त्वचा पर छोटे छोटे दानें  निकलते हैं जिसे एक्जिमा कहते हैं | जितने तरह के त्वचा रोग होते हैं, उसमे एक्जिमा एक मुख्य रोग है और यह बहुत अधिक होने वाला त्वचा रोगों में से है | यह बीमारी शरीर के किसी भी स्थान में हो सकती है जैसे सिर, कान, हाथ, पैर , मुंह, जननांग आदि | कान के पीछे और माथे में यह रोग ज्यादा होते देखा गया है |

पहले वह स्थान लाल हो जाती है और फिर उस जगह पर छोटे छोटे या फटे-फटे एक तरह का दाना निकलता है , उसमे से पानी या चिपचिपा पदार्थ निकलता है , तेज खुजलाहट और जलन होती है | खानपान में गड़बड़ी ,गर्म मौसम , गठिया , डायबिटीज़ आदि कारणों से भी यह रोग हो सकता है | अलग अलग व्यवसाय, धंधों और रहन सहन के कारण भी यह हो सकता है | जैसे राज-मिस्त्री , धोबी के काम से या त्वचा को ज्यादा रगड़ने से इस रोग का शुरुआत हो सकता है | ऐसे मुख्य रूप से सोरा (psora) दोष के कारण इस रोग का होना माना जाता है | 

 

एक्जिमा के प्रकार (Eczema types)

एक्जिमा को हम मुख्य रूप से 3 भाग में बाँट सकते हैं –

  1. सुखा /खुश्क (dry) एक्जिमा
  2. बहने वाला (moist or weeping) एक्जिमा
  3. किसी खास स्थान पर होने वाला (Locality of eczema)

 

Treatment

होम्योपैथिक दवायें (Homeopathic medicine )

 

Dry Eczema (खुश्क एक्जिमा)

 

सल्फर 30 दिन में 3 बार – त्वचा खुश्क, खुरदरी, छिछ्ड़ेंदार, तेज खुजलाहट  | शरीर से बदबू , रोगी गंदा संदा सा दिखे | आँख की पलकें , कान , नाक सब आगे से लाल दिखाई देती है | बिस्तर की गर्मी बर्दास्त नही होती , पैरों में जलन | सुबह  10-11 बजे भूख बर्दास्त से बाहर |

 

एलूमिना 30 दिन में 3 बार – बेहद खुजली और खुश्क त्वचा इसका मुख्य लक्षण है , खुश्की के कारण त्वचा में सख्त दरारें | खुजलाते खुजलाते त्वचा छिल जाती है और वहा दानें हो जाती है | पहले त्वचा का खुजलाना और फिर वहा दाना हो जाना | साथ में सख्त कब्ज की शिकायत |

 

मेजेरियम 30 दिन में 3 बार – सिर में होने वाले एक्जिमा का मुख्य दवा | सिर के एक्जिमा में जब छिलके से परत जम कर उसके नीचे गाढ़ा , सफेद  या गोंद जैसा मवाद हो जिससे बाल जटा की तरह जकड़ जाय |

 

टेल्यूरियम 30 दिन में 3 बार – कान के पीछे होने वाले एक्जिमा में विशेष रूप से उपयोगी है | अंगूठी की तरह गोल गोल निशान बनते हैं | यह दवा नाई के उस्तुरे से होनेवाले खुजली में भी काफी उपयोगी है | हाथ और पैर में होनेवाले एक्जिमा और खुजली |

 

सोरिनम 30 दिन में 3 बार – त्वचा का खुश्क होना और छिछ्ड़ेदार जो खासकर चेहरे पर और खोपड़ी पर हो | एक्जिमा से जो स्राव निकलता है उसके ऊपर पपड़ी जमता है , पपड़ी के नीचे जो स्राव निकलता है उससे पपड़ी उपर उठ जाता है और नीचे नए नये दाने बनते रहते हों | बदबूदार स्राव के कारण छिछ्ड़े//पपड़ी और नए दाने लगातार बनते  रहते हैं | 

 

रस टक्स 30, 200 दिन में 3 बार – अगर त्वचा पर दाने और फुन्सियों हो जाने के बाद बहुत तेज खुजली हो 

 

पेट्रोलियम 30 दिन में 3 बार – जब रोग सर्दी में बढ़ जाए , खुश्की के कारण दरारें पड़ जाए और उसमे खून दिखे | गर्मी के दिनों में रोग ठीक हो जाए और जाड़ों के दिनों में फिर हो जाय | 

 

बहने वाला एक्जिमा (Moist or Wet Eczema)

 

ग्रेफाईटिस 30 , 200  दिन मे 3 बार  – बहने वाले एक्जिमा का प्रमुख दवा | खुजलाने से शहद जैसा गाढ़ा स्राव निकलता है , गर्मी में और रात को परेशानी बढ़ जाता है ( पुरानी बीमारी में 1M सप्ताह में 1 बार लेना चाहिए )

 

हिपर सल्फर 30 दिन में 2 से 3 बार – फुन्सियां जिस से मवाद निकलती है और खुजली होती है | छूने से तेज दर्द हो , एक्जिमा को छूने नही देता , रोग ठंडी हवा से तथा खुश्क हवा दोनों से बढ़े | 

 

मर्क सोल 30, 200 दिन में 3 बार – जब खुजली रात में बढ़े, खुजलाने से खुजली और जलन बढ़ती है | सिर पर बहने वाला फुंसी 

 

सल्फर आयोड 30 दिन में 3 बार – यह दवा भी त्वचा के बहुत सारे  बीमारियों में उपयोगी है जैसे – मुहासे , बहने वाला एक्जिमा , चेहरे और दाढ़ी की खुजली जो नाई उस्तरे से हुई हो (barber’s itch ) 

 

खास स्थान पर होनेवाले एक्जिमा ( Locality of Eczema)

 

कानों के पीछे – टेलूरियम, सोरिनम

हथेली , उँगलियाँ पर – ग्रेफाईटिस , मर्क सोल 

सिर पर – मेजेरियम 

जननांगों में – रस टक्स , सोरिनम 

माथे पर बालों की जड़ों में – हाईड्रैसटिस

 

 

About the Author

monsterid

Admin

डा राजकुमार (BHMS) होमियोपैथी के क्षेत्र में एक प्रशिक्षित और काफी अनुभवी डॉक्टर हैं , अपने क्लिनिक के माध्यम से कई वर्षों (लगभग 20 वर्ष) से हर तरह की नये और पुराने तथा जटिल रोंगों के सफल ईलाज करते आ रहे हैं ,यह वेबसाइट किसी भी व्यक्ति के लिए काफी उपयोगी है , कोई भी आदमी इस वेबसाइट से फायदा उठा सकते हैं | अगर कोई भी सवाल या कुछ पूछना चाहते हैं तो बिना कोई संकोच के सम्पर्क कर सकते हैं , email - [email protected]

1 thought on “एक्जिमा Eczema

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *