नक्स वोमिका Nux vomica

नक्स वोमिका Nux vomica

कुचले के विष को नक्स वोमिका कहा जाता है

नक्स वोमिका का रोगी शीत प्रधान होता है | हर वक्त जाड़ा महसूस करता है| भीतर से एक तरह का जाड़ा मगर बाहर शरीर में गर्मी वाला जलन जैसे शरीर जल रहा है| साथ ही तरह तरह के तेज तेल मसालों वाले खाना खाने, बहुत दिनों तक तरह तरह की दवाओं और नीम हकीम, वैद्य, डॉक्टर के पेटेंट दवाओं आदि का प्रयोग करने और तंबाकू तथा शराब का अधिक सेवन करने के कारण जिनका स्वास्थ्य खराब हो चुका है उनके लिए यह खास उपयोगी है |

मानसिक लक्षण
नक्स के रोगी गुस्सैल,चिड़चिड़ा, झगड़ालू, जिद्दी, बद मिजाज होते हैं , हर बात में दोष निकालने की और बुरा भला कहने की आदत होती है (कैमोमिला) थोड़ा सा में ही क्रोधित हो जाता है |
यह दवा उनलोगों के लिए विशेष उपयोगी है जो बहुत ज्यादा पढ़ा करते हैं और घर से बाहर बहुत कम निकलते हैं | जो शारीरिक मेहनत नहीं करते, शराब पीने की लत के शिकार व्यक्ति के लिए | हमेशा पेट की बीमारी से ग्रसित कब्ज |
ऐसे विद्यार्थियों के लिए जो दिन रात किताबों में ही लीन रहते हैं लेकिन शारीरिक काम नहीं किया करते | दिमागी मेहनत खूब होता है लेकिन शारीरिक मेहनत करने का मौका नहीं मिलता|
जिनको बवासीर और  कब्ज की हमेशा शिकायत बनी रहती है और दिन व दिन भूख में कमी होती जाती है और चिड़चिड़ापन बढ़ता जाता है| हर किसी से झगड़ जाता है |
सुबह के वक्त मूँह का स्वाद खराब रहता है खाने पीने के बाद सामान्य हो जाता है| रात में जागने से, बहुत ज्यादा खाना, शराब पीना, नशीले पदार्ध का सेवन करने आदि से अगर कोई बीमारी हुई हो तो नक्स तुरत फायदा करेगी |

पेट
खाने के एक या दो घंटे बाद पेट भारी हो जाता है, फूल जाता है, पत्थर जैसा कड़ा हो जाता है उसके बाद सिर दर्द की शिकायत साथ ही धड़कन तेज हो जाती है | बहुत ज्यादा खाने से, ज्यादा शराब पीने से, ज्यादा यौन संबंध से, अधिक दवाओं के सेवन से, सुस्ती के साथ दिन बिताने से अगर पाचन शक्ति खराब हो गई है तो सबसे पहले नक्स वोमिका का प्रयोग करना चाहिए |
खाना खाने के तुरंत बाद खायी हुयी चीज का उल्टी कर देना | अगर कई घंटे बाद खायी हुयी चीज का का उल्टी हो तो (क्रियोजोट) |

धुएं जैसी या खट्टी डकार के साथ  हिचकी होना , ठंडा पानी पिने पर हिचकी बढ़ जाना, पेट फूलना 

कब्ज
बार बार मल त्याग की इच्छा होने के बाद भी हर बार थोड़ा थोड़ा ही मल निकलता है और महसूस होता है कि पेट साफ नहीं हुआ है | यह इस दवा का विशेष लक्षण है |एक बार कब्ज तो एक बार पतले दस्त हो जाना 
पेचिस में पाखाना होने के पहले पेट में दर्द और ऐंठन होता है लेकिन पाखाना के बाद कुछ समय के लिए कम हो जाता है | अगर पाखाना हो जाने के बाद भी ऐंठन बना रहे तो —मर्क कॉर

(पाखाना बिल्कुल लगती ही नहीं – ब्रायोनिया)

बदहजमी और अम्लपित्त की बीमारी- जो कुछ खाता है वह अच्छी तरह से पचता नहीं है और पेट में दर्द होता है, कब्ज के साथ साथ पेट में ऐंठन जैसा दर्द , लगातार ओकाई आती है कभी कभी मुह में ऊँगली डालकर कै कर देता है| पेट में गैस भरा होता है और मुंह में पानी भर आता है | गरम पानी पीने से आराम लगता है |

बवासीर
जो लोग शारीरिक परिश्रम नहीं कर पाते उनके बादी बवासीर का दर्द |

पेशाब
कैंथरिस की तरह नक्स भी पेशाब की तकलीफ़ में बहुत उपयोगी है, दर्द के साथ बार बार पेशाब लगता है लेकिन होता नहीं है, काँखना पड़ता है| ब्लैडर और मूत्र मार्ग में जलन और दर्द, अगर दर्द के साथ बूंद बूंद टपके तो—कैंथरिस
अच्छी अच्छी गरिष्ठ भोजन खा लेने के बाद पेट की बीमारी और साथ में दमा हो जाए |

बुखार 

मलेरिया, जाड़े का बुखार, लिवर से सम्बंधित किसी खराबी के साथ ज्वर, हर तरह का साधारण ज्वर

धड़कन
खाना खाने के बाद लेटने से, कॉफी से और अधिक पढ़ाई से धड़कन होती है |

हर्निया
बच्चों में बाईं तरफ की हर्निया, अगर दाईं तरफ हो तो— लाइकोपोडियम

विरोधी औषधिज़िंकम के पहले और बाद कभी भी नक्स का प्रयोग नहीं करना चाहिए

नक्स वोमिका के बाद ब्रायोनिया, पल्सटिला और सल्फर अच्छा काम करती है |
जब शरीर और मन शांत अवस्था में हो उस समय नक्स अच्छा काम करती है इसलिए रात को सोने से पहले इसका सेवन करना ज्यादा अच्छा है |

रोग वृद्धि
मानसिक परिश्रम से, सुबह के वक्त, भोर में नींद टूटने पर, रात में जागने से, खाना खाने के बाद या अधिक खा लेने पर, हिलने डूलने से, क्रोध से, तेल मसालों से, ठंडी हवा से, नशीली चीज खाने से |
कमी
शाम के समय, स्थिर रहने से, लेटने से

पोटेंसी 2X , 30, 200, 1M

About the Author

monsterid

Admin

डा राजकुमार (BHMS) होमियोपैथी के क्षेत्र में एक प्रशिक्षित और काफी अनुभवी डॉक्टर हैं , अपने क्लिनिक के माध्यम से कई वर्षों (लगभग 20 वर्ष) से हर तरह की नये और पुराने तथा जटिल रोंगों के सफल ईलाज करते आ रहे हैं ,यह वेबसाइट किसी भी व्यक्ति के लिए काफी उपयोगी है , कोई भी आदमी इस वेबसाइट से फायदा उठा सकते हैं | अगर कोई भी सवाल या कुछ पूछना चाहते हैं तो बिना कोई संकोच के सम्पर्क कर सकते हैं , email - [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error

जानकारी अच्छी लगे तो share करना न भूलें