एकोनाइट नैपेलस Aconitum napellus

एकोनाइट नैपेलस Aconite napellus 

एक तरह के पौधे से बनाया जाता है जिसमे एक विषैला किस्म का केमिकल पाया जाता है, यह पौधा अमेरिका, एशिया, मध्य-यूरोप और हिमालय पहाड़ों में भी पाया जाता है |

एकोनाइट 5 प्रकार का होता है

  1. एकोनाइट नैपेलस (Aconite Napellus)

  2. एकोनाइट कैमारम (Aconite Cammarum)

  3. एकोनाइट फेरोक्स (Aconite Ferox )

  4. एकोनाइट लाईकोटॉनम ( Aconite Lycotonum)

  5. एकोनाइट रैडिक्स (Aconite Radix )

 

प्रमुख मानसिक और शारीरिक लक्षण(Mental and Physical Symptoms)

मन

किसी भी रोग के साथ अत्यधिक भय, व्यग्रता, चिन्ता, मानसिक और शारीरिक बेचैनी, भय एकोनाइट का मुख्य चारित्रिक लक्षण है| चेहरे से ही पता लग  जाता है की वह डरा हुआ है भविष्य के प्रति निराशा एवं भयभीत रहना, मृत्यु का भय , रोगी को लगता है की वह जल्दी ही मर जाएगा, बेचैनी के कारण छटपटाहट | भीड़भाड़ और सड़क पार करने से डर, सोचता है अभी अभी जो कुछ किया है वह सपना था |  

रोगी खुद को छूने नहीं देना चाहता है शक्ति का अचानक और अत्यधिक कमी हो जाना| जिन लोगों पर जलवायु परिवर्तन का तुरंत प्रभाव पड़ता है |

शुष्क , ठंडे  , शीतलहर , पसीने के दब जाने के कारण उत्पन्न परेशानियाँ और तनाव तथा अतात्धिक गर्म मौसम के कारण भी शिकायत | शरीर के अंदरूनी हिस्सों में जलन , झनझनाहट, ठंढक और सुन्नापन का अनुभव |

एकोनाइट को किसी भी बिमारी के शुरूआती में प्रारंभिक अवस्था में ही प्रयोग किया जाता है ना की रोग बढ़ जाने या बिगड़ जाने पर |

 

सिर

सिर भारी, गरम, फटने जैसा , अंतर्दाह के साथ दर्द, लगता है मानो को बालों को खीच रहा है या बाल खड़े हो गए हों |

आँख

आँखें शुष्क , गरम महसूस होना , पलकें कठोर और लाल | बर्फ की चमक से या कोई बाहरी चीज आँख में घुस जाने के बाद निकाल लेने पर आँख से पानी गिरना |

नाक

एकाएक ठण्ड लगकर सर्दी हो जाना , नयी सर्दी गंध के प्रति अति संवेदनशील, नाक की जड़ में दर्द | नाक बंद होना, सुखा या हल्का बहने वाला नजला |

अमाशय

वमन होनेके साथ भय, गर्मी , बहुत पसीना और काफी पेशाब होना , सभी चीजों का स्वाद कड़ा लगता है | अत्यधिक प्यास | रोगी पानी पीता है , उलटी करता है और फिर मृत्यु की भविष्यवाणी कर देता है |

मूत्र

पेशाब का रंग लाल , गरम , दर्द के साथ और बहुत थोडा होना | पेशाब में रुकावट के सतत चिल्लाकर रोना , छटपटी होना | अत्यधिक मूत्र के साथ पसीना और पतला दस्त होना |

स्त्री

प्रसव के पहले होनेवाले दर्द के साथ भय, बेचैनी और डर

श्वांस संस्थान

सांस में रुकावट का अनुभव | सुखा , कर्कश और काली खांसी , सांस फूलती है | रात में आधी रात के बाद खांसी बढती है |

ह्रदय

ह्रदय गति का असामान्य रूप से तेज होना | ह्रदय की तेज धड़कन के साथ घबराहट, बेहोशी

नींद

नींद में डरावने सपने देखता है , घबराहटपूर्ण | अनिद्रा के साथ बेचैनी छटपटाहट, सोते सोते चौंक जाना , बूढ़े लोगों में अनिद्रा |

बुखार

एकाएक तेज बुखार के साथ भीतर से दाह और जलन | रोगी अपने ऊपर से ठंडी हवाएं बहने जैसा अनुभव करता है, शरीर पर जरा स भी पसीना न होना  प्यास और बेचैनी | मानसिक बेचैनी और छटपटाहट, मृत्य का डर

जिन रोगों में शुरुआत में एकोनाइट का प्रयोग किया जाता है , उसी में अंत में सल्फर का प्रयोग करना चाहिए | 

कमी- खुली हवा से 

वृद्धि- गर्म कमरे से , शाम के समय, रात में , संगीत से , धूम्र पान से , ठंडी और शुष्क हवा से 

रोग का कारण – भय, त्रास, ठंडी हवा , शुष्क हवा , गर्मी से 

क्रियानाशक- एसिटिक एसिड, सल्फर, कॉफिया, बेर्बेरिस

शक्ति (Potency) – 6, 30 , 200

 

About the Author

monsterid

Admin

डा राजकुमार (BHMS) होमियोपैथी के क्षेत्र में एक प्रशिक्षित और काफी अनुभवी डॉक्टर हैं , अपने क्लिनिक के माध्यम से कई वर्षों (लगभग 20 वर्ष) से हर तरह की नये और पुराने तथा जटिल रोंगों के सफल ईलाज करते आ रहे हैं ,यह वेबसाइट किसी भी व्यक्ति के लिए काफी उपयोगी है , कोई भी आदमी इस वेबसाइट से फायदा उठा सकते हैं | अगर कोई भी सवाल या कुछ पूछना चाहते हैं तो बिना कोई संकोच के सम्पर्क कर सकते हैं , email - [email protected]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error

जानकारी अच्छी लगे तो share करना न भूलें